Rajdulaari Lyrics in Hindi – Hansraj Raghuwanshi

Rajdulaari Lyrics in Hindi by Hansraj Raghuwanshi latest Hindi song in which music given by Ricky T GiftRulers . Lyrics of this Song written by Hansraj Raghuwanshi .Video released by Hansraj Raghuwanshi  Youtube Channel.

Rajdulaari Song Details

Song :Rajdulaari

Singer :Hansraj Raghuwanshi

Music :Ricky T GiftRulers

Lyrics :Hansraj Raghuwanshi

Label :Hansraj Raghuwanshi

 Rajdulaari Lyrics in Hindi

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

पर्वत पे मैं करू गुजर
मेरा कोई घर बार नहीं
वियाह कराके मेरे से मिले
सास ससुर का प्यार नहीं

तू सेजो पे सोने वाली
यहाँ खटिया पलंग निवास नहीं
तू मांगेगी कहां से दूंगा
शीशा हार श्रृंगार नहीं

तुझे छप्पन भोग की आदत है
मैं बिलकुल पालतू पुजारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

भ्रम से तू विया कराले
भ्रामणी बान जावेगी
इंदर से तू वाया करवाले
इंद्राणी बान जावेगी

विष्णु से तू बियाह कराले
पटरानी बान जवेगी
मेरे संग में ब्याह की हट से
तेरी हानी बन जावेगी

तू राजा हिमाचल की लाडली
मैं शंभु शान विहार हूं Ho
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तू सोहनी मैं सुंदर ना हूं
पीता घोट के भंग हूं
जटा जूत भी काल कुट्ट भी
मस्ती में मस्त मलंगा हूं

रोज लड़ेगी तेरी सौतन
रक्‍त शेष पे गंगा हूं
देख देख तेरा दम निकलेगा
लिपटे केई भुजंगा हूं

ना खाने को ना पीने को
नाम का शिव भंडारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

महादेव शिव साईं महेश्वर संभु
हर हर शिव साईं शंकर शम्भु
सत् साईं शंकर शम्भु

दास नहीं रंग रास नहीं
कैसे मान बेहलावेगी
ठंडी बर्फ पे सोना होगा
सारदी में थुथर जाएगी Ja

हाथ में पद जाएंगे चले
भंग का घोड़ा कानून
मेरे पास कोई नहीं सवारी
तू पिहार कैसे जवेगी

तेरे मन का कमल खिले ना
अर्धपुरुष अर्धनारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता मस्त मलंगा हूं

तू महलों में रहने वाली
मैं जोगी जटाधारी हूं
तेरा मेरा मेल मिले ना
रहता अटल अटारी हूं

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

तेरे प्यार में होई
मैं दीवानी ओ रे संभु
तेरे प्यार में होई मैं दीवानी

मैं चुप होकर भी हर बात हूं
मैं दिन होकर भी अंधेरी रात हूं Ra
तू चिंता मत कर मेरी गोरा
मैं द्वार होकर भी तेरे साथ हूं
मैं द्वार होकर भी तेरे साथ हूं

Writer : Hansraj Raghuwanshi

This is the tip of the lyrics of this song. If you find any mistake regarding the lyrics of this song then let me know by contact us page for correction.

Rajdulaari Song – FAQS

Q.1 Who Sung the ” Rajdulaari “ Song?

Ans ” Rajdulaari “ Song Sung by ” Hansraj Raghuwanshi “ .

Q.2 Who Written the ” Rajdulaari “ song ?

Ans ” Rajdulaari “ song  lyrics written by ” Hansraj Raghuwanshi “.

Q.3 Which Music Company is released ” Rajdulaari “ song?

Ans ” Rajdulaari “ Song is Released under the Label ” Hansraj Raghuwanshi “.