Dil Pe Zakhm Khate Hai Lyrics in Hindi

Dil Pe Zakhm Khate Hai Lyrics in Hindi by Jubin Nautiyal latest Hindi song in Which music is given by Rochak Kohli. While Dil Pe Zakhm Khate Hai Song Lyrics are penned down by Manoj Muntashir and  Video released by T-Series Youtube Channel.

Dil Pe Zakhm Khate Hai Lyrics in Hindi

हस्ता हुआ ये चेहरा
बस नज़र का धोखा हैं
तुमको क्या खबर कैसे
आसुंओं को रोका हैं

ओ तुमको क्या खबर कितना
मैं रात से डरता हूँ
सौ दर्द जाग उठते हैं
जब ज़माना सोता हैं

हाँ तुमपे उँगलियाँ न उठे
इसलिए गम उठाते हैं
दिल पे ज़ख्म खाते हैं

दिल पे ज़ख्म खाते हैं
और मुस्कुराते हैं
दिल पे ज़ख्म खाते हैं
और मुस्कुराते हैं

क्या बताएं सीने में
किस कदर दरारें हैं
हम वह हैं जो शीशों को
टूटना सिखाते हैं
दिल पे ज़ख्म खाते हैं

लोग हमसे कहते हैं
लाल क्यों हैं यह आँखें
कुछ नशा किया हैं या
रात सोये थे कुछ काम

हाँ…

लोग हमसे कहते हैं
लाल क्यों हैं यह आँखें
कुछ नशा किया हैं या
रात सोये थे कुछ काम

क्या बताएं लोगों को
कौन हैं जो समझेगा
रात रोने का दिल था
फिर भी रो ना पाए हम

दस्तकें नहीं देते
हम कभी तेरे दर पे
तेरी गलियों से हम
यूँ ही लौट आते हैं
दिल पे ज़ख्म खाते हैं

कुछ समझ न आये
कुछ समझ न आये
हम चैन कैसे पाएं
बारिशें जो साथ में गुज़री
भूल कैसे जाएँ

कैसे छोड़ दे आँखें
तुझको याद करना
तू जिए तेरे खातिर
अब हैं कबूल मरना

तेरे खत जला न सके
इसलिए दिल जलाते हैं

दिल पे ज़ख्म खाते हैं
और मुस्कुराते हैं
हम वह हैं जो शीशों को टूटना सिखातें हैं
दिल पे ज़ख्म खाते हैं

Dil Pe Zakhm Khate Hai Lyrics in English

Hasta Hua Ye Chehara
Bas Nazar Ka Dhokha Hain
Tumako Kya Khabar Kaise
Aasunon Ko Roka Hain

O Tumako Kya Khabar Kitana
Main Raat Se Darata Hoon
Sau Dard Jaag Uthate Hain
Jab Zamaana Sota Hain

Haan Tumape Ungaliyaan Na Uthe
Isalie Gam Uthaate Hain
Dil Pe Zakhm Khaate Hain

Dil Pe Zakhm Khaate Hain
Aur Muskuraate Hain
Dil Pe Zakhm Khaate Hain
Aur Muskuraate Hain

Kya Bataen Seene Mein
Kis Kadar Daraaren Hain
Ham Vah Hain Jo Sheeshon Ko
Tootana Sikhaate Hain
Dil Pe Zakhm Khaate Hain

Log Hamase Kahate Hain
Laal Kyon Hain Yah Aankhen
Kuchh Nasha Kiya Hain Ya
Raat Soye The Kuchh Kaam

Haan…

Log Hamase Kahate Hain
Laal Kyon Hain Yah Aankhen
Kuchh Nasha Kiya Hain Ya
Raat Soye The Kuchh Kaam

Kya Bataen Logon Ko
Kaun Hain Jo Samajhega
Raat Rone Ka Dil Tha
Phir Bhee Ro Na Pae Ham

Dastaken Nahin Dete
Ham Kabhee Tere Dar Pe
Teree Galiyon Se Ham
Yoon Hee Laut Aate Hain
Dil Pe Zakhm Khaate Hain

Kuchh Samajh Na Aaye
Kuchh Samajh Na Aaye Ham Chain Kaise Paen
Baarishen Jo Saath Mein Guzaree
Bhool Kaise Jaen
Kaise Chhod De Aankhen
Tujhako Yaad Karana
Too Jie Tere Khaatir
Ab Hain Kabool Marana

Tere Khat Jala Na Sake
Isalie Dil Jalaate Hain

Dil Pe Zakhm Khaate Hain
Aur Muskuraate Hain
Ham Vah Hain Jo Sheeshon Ko
Tootana Sikhaaten Hain
Dil Pe Zakhm Khaate Hain

Writer: Manoj Muntashir

It’s the End of this song lyrics. If you find any mistake regarding the lyrics of this song then let me know by contacting us page for correction.

 Dil Pe Zakhm Khate Hai Song Details
Song:-            Dil Pe Zakhm Khate Hai

Singer:-         Jubin Nautiyal

Music:-          Rochak Kohli

Lyrics:-          Manoj Muntashir

Label:-           T-Series

Cast:-             Gurmeet Choudhary, Arjun Bijlani, Kashika Kapoor

 Dil Pe Zakhm Khate Hai Song Video